Subscribe for Newsletters and Discounts
Be the first to receive our thoughtfully written
religious articles and product discounts.
Your interests (Optional)
This will help us make recommendations and send discounts and sale information at times.
By registering, you may receive account related information, our email newsletters and product updates, no more than twice a month. Please read our Privacy Policy for details.
.
By subscribing, you will receive our email newsletters and product updates, no more than twice a month. All emails will be sent by Exotic India using the email address info@exoticindia.com.

Please read our Privacy Policy for details.
|6
Sign In  |  Sign up
Your Cart (0)
Best Deals
Share our website with your friends.
Email this page to a friend
Books > Hindi > साहित्य > साहित्य का इतिहास > गौ-वध और अंग्रेज: British and Cow Slaughter (An Old Book)
Subscribe to our newsletter and discounts
गौ-वध और अंग्रेज: British and Cow Slaughter (An Old Book)
Pages from the book
गौ-वध और अंग्रेज: British and Cow Slaughter (An Old Book)
Look Inside the Book
Description

लेखक परिचय

जन्म १९२२ में भारत छोडो आंदोलन मेंशामिल! १९४४ में मीराबेन संपर्क उनके साथ रुड़की और हरिद्वार के बीच किसान आश्रम बनाया! १९४७ में कमलादेवी चट्टोपाध्याय, डॉ. राम मनोहर लोहिया से संपर्क! कमलादेवी की अद्यक्षता वाले भारतीय सहकारी संघ के सदस्य! १९४८ में इंगलेंड में फेलीज़ से विवाह! १९५० से ऋषिकेश के पास पशुलोक क्षेत्र इन सामुदायिक गांव बापूग्राम बनना शरू हुआ ! धर्मपाल वहीँ फिलीज़ के साथ १९५३ तक रहे! १९५४ में वे सपरिवार इंग्लैंड लो गए १९५८ में दिल्ली लोट गए जहाँ वे अवार्ड एसोसिएशन आफ वॉलेंटरी एजेंसी फॉर रूरल डेवेलपमेंट के जनरल सेक्रेटरी हुए! १९६४-६५ में आल इंडिया पंचायत परिषद के साथ शोध निर्देशक की तरह कार्य! जहाँ कार्य करते हुए थे मद्रास पंचाट सिस्टम प्रकाशित! इसके पहले थे पंचायत इस थे बेसिस आफ इंडियन पॉलिटिक्स (भारतीय राजनीती का आधार पंचायत)प्रकाशित कर चुके थे १९६६ से बेटे की गंभीर दुर्घटना के कारन लंडन वापसी! तब तक १८ वींऔर १९ शती के भारत ब्रिटिश मुठभेड़ में गहरी दिलचस्पी हो चुकी थी! १९८२ तक लंदन में रहकर निरंतर इंडियन ऑफिस और ब्रिटिश संग्रहालय जाते रहे! अपना अधिकतर वक्त वहां अभिलेखों के अध्ययन में लगा! पुरानी पांडुलिपियों की फोटोकॉपी करना कई बार संभव नहीं था कई बार उसके लिए पैसे नहीं थे! इसलिए धर्मपाल जी ने उन्हें हाथ से उतारा! इस तरह वे कई महत्वपूर्ण तथ्यों को ब्रिटिश अभिलेखाकर से बहार लाये

अदर इंडियन प्रेस गोवा से धर्मपाल की संकलित रचनायें प्रकाशित हुई हैं पहले भाग में १९ वीं शती में भारतीय विज्ञानं और तकनीक, दूसरे में सामाजिक प्रतिरोध की भारतीय परम्परा, तीसरे भाग में १९ वीं शती में भारत की स्थानीय शिक्षा, चौथे, में पंचायत राज और भारतीय राजनीति पर विचार और पांचवे भाग में स्फुट निबन्ध संकलित है!

 








Sample Pages


गौ-वध और अंग्रेज: British and Cow Slaughter (An Old Book)

Item Code:
NZD677
Cover:
Paperback
Edition:
2003
Publisher:
ISBN:
8170551994
Language:
Hindi
Size:
8.5 inch X 5.5 inch
Pages:
184
Other Details:
Weight of the Book: 200 gms
Price:
$21.00
Discounted:
$16.80   Shipping Free
You Save:
$4.20 (20%)
Look Inside the Book
Be the first to rate this product
Add to Wishlist
Send as e-card
Send as free online greeting card
गौ-वध और अंग्रेज: British and Cow Slaughter (An Old Book)
From:
Edit     
You will be informed as and when your card is viewed. Please note that your card will be active in the system for 30 days.

Viewed 5043 times since 12th Jan, 2015

लेखक परिचय

जन्म १९२२ में भारत छोडो आंदोलन मेंशामिल! १९४४ में मीराबेन संपर्क उनके साथ रुड़की और हरिद्वार के बीच किसान आश्रम बनाया! १९४७ में कमलादेवी चट्टोपाध्याय, डॉ. राम मनोहर लोहिया से संपर्क! कमलादेवी की अद्यक्षता वाले भारतीय सहकारी संघ के सदस्य! १९४८ में इंगलेंड में फेलीज़ से विवाह! १९५० से ऋषिकेश के पास पशुलोक क्षेत्र इन सामुदायिक गांव बापूग्राम बनना शरू हुआ ! धर्मपाल वहीँ फिलीज़ के साथ १९५३ तक रहे! १९५४ में वे सपरिवार इंग्लैंड लो गए १९५८ में दिल्ली लोट गए जहाँ वे अवार्ड एसोसिएशन आफ वॉलेंटरी एजेंसी फॉर रूरल डेवेलपमेंट के जनरल सेक्रेटरी हुए! १९६४-६५ में आल इंडिया पंचायत परिषद के साथ शोध निर्देशक की तरह कार्य! जहाँ कार्य करते हुए थे मद्रास पंचाट सिस्टम प्रकाशित! इसके पहले थे पंचायत इस थे बेसिस आफ इंडियन पॉलिटिक्स (भारतीय राजनीती का आधार पंचायत)प्रकाशित कर चुके थे १९६६ से बेटे की गंभीर दुर्घटना के कारन लंडन वापसी! तब तक १८ वींऔर १९ शती के भारत ब्रिटिश मुठभेड़ में गहरी दिलचस्पी हो चुकी थी! १९८२ तक लंदन में रहकर निरंतर इंडियन ऑफिस और ब्रिटिश संग्रहालय जाते रहे! अपना अधिकतर वक्त वहां अभिलेखों के अध्ययन में लगा! पुरानी पांडुलिपियों की फोटोकॉपी करना कई बार संभव नहीं था कई बार उसके लिए पैसे नहीं थे! इसलिए धर्मपाल जी ने उन्हें हाथ से उतारा! इस तरह वे कई महत्वपूर्ण तथ्यों को ब्रिटिश अभिलेखाकर से बहार लाये

अदर इंडियन प्रेस गोवा से धर्मपाल की संकलित रचनायें प्रकाशित हुई हैं पहले भाग में १९ वीं शती में भारतीय विज्ञानं और तकनीक, दूसरे में सामाजिक प्रतिरोध की भारतीय परम्परा, तीसरे भाग में १९ वीं शती में भारत की स्थानीय शिक्षा, चौथे, में पंचायत राज और भारतीय राजनीति पर विचार और पांचवे भाग में स्फुट निबन्ध संकलित है!

 








Sample Pages


Post a Comment
 
Post a Query
For privacy concerns, please view our Privacy Policy
Based on your browsing history
Loading... Please wait

Items Related to गौ-वध और अंग्रेज: British and Cow Slaughter... (Hindi | Books)

The Namdhari Sikhs: Their Changing Social and Cultural Landscape
Deal 20% Off
Item Code: NAM969
$43.00$27.52
You save: $15.48 (20 + 20%)
Add to Cart
Buy Now
Voice of God  (Volume-7)
Item Code: IHJ025
$45.00$36.00
You save: $9.00 (20%)
SOLD
THE COMPLETE MAHABHARATA: 9 Volumes
Item Code: IDF394
$455.00$364.00
You save: $91.00 (20%)
Add to Cart
Buy Now
Besieged Voices From Delhi 1857
by Mahmood Farooqui
Paperback (Edition: 2012)
Penguin Books India Pvt. Ltd.
Item Code: NAF278
$31.00$24.80
You save: $6.20 (20%)
Add to Cart
Buy Now
Gita Press and The Making of Hindu India
by Akshaya Mukul
Hardcover (Edition: 2015)
Harper Collins Publishers
Item Code: NAK632
$43.00$34.40
You save: $8.60 (20%)
Add to Cart
Buy Now
Kanchi Mahaswami on Poets and Poetry
by V.Sivaramakrishnan
Paperback (Edition: 1995)
Bharatiya Vidya Bhavan
Item Code: NAH600
$15.00$12.00
You save: $3.00 (20%)
SOLD
Mahatma Gandhi and His Assassin
by Koenraad Elst
Paperback (Edition: 2015)
Voice of India, New Delhi
Item Code: NAN976
$31.00$24.80
You save: $6.20 (20%)
Add to Cart
Buy Now
Muslim Separatism (Causes and Consequences)
by Sita Ram Goel
Paperback (Edition: 2020)
Voice of India, New Delhi
Item Code: NAM750
$18.00$14.40
You save: $3.60 (20%)
Add to Cart
Buy Now
Mahatma Gandhi and His Assassin
Deal 20% Off
by Koenraad Elst
Hardcover (Edition: 2015)
Voice of India, New Delhi
Item Code: NAL208
$36.00$23.04
You save: $12.96 (20 + 20%)
Add to Cart
Buy Now
Hindus Under Siege : The Way Out
Item Code: NAE941
$20.00$16.00
You save: $4.00 (20%)
Add to Cart
Buy Now
Vinaya Patrika (Vol. II from Complete Works of Goswami Tulsidas)
Item Code: ILL64
$31.00$24.80
You save: $6.20 (20%)
Add to Cart
Buy Now
Testimonials
I received the two books today from my order. The package was intact, and the books arrived in excellent condition. Thank you very much and hope you have a great day. Stay safe, stay healthy,
Smitha, USA
Over the years, I have purchased several statues, wooden, bronze and brass, from Exotic India. The artists have shown exquisite attention to details. These deities are truly awe-inspiring. I have been very pleased with the purchases.
Heramba, USA
The Green Tara that I ordered on 10/12 arrived today.  I am very pleased with it.
William USA
Excellent!!! Excellent!!!
Fotis, Greece
Amazing how fast your order arrived, beautifully packed, just as described.  Thank you very much !
Verena, UK
I just received my package. It was just on time. I truly appreciate all your work Exotic India. The packaging is excellent. I love all my 3 orders. Admire the craftsmanship in all 3 orders. Thanks so much.
Rajalakshmi, USA
Your books arrived in good order and I am very pleased.
Christine, the Netherlands
Thank you very much for the Shri Yantra with Navaratna which has arrived here safely. I noticed that you seem to have had some difficulty in posting it so thank you...Posting anything these days is difficult because the ordinary postal services are either closed or functioning weakly.   I wish the best to Exotic India which is an excellent company...
Mary, Australia
Love your website and the emails
John, USA
I love antique brass pieces and your site is the best. Not only can I browse through it but can purchase very easily.
Indira, USA
Language:
Currency:
All rights reserved. Copyright 2020 © Exotic India