Subscribe for Newsletters and Discounts
Be the first to receive our thoughtfully written
religious articles and product discounts.
Your interests (Optional)
This will help us make recommendations and send discounts and sale information at times.
By registering, you may receive account related information, our email newsletters and product updates, no more than twice a month. Please read our Privacy Policy for details.
.
By subscribing, you will receive our email newsletters and product updates, no more than twice a month. All emails will be sent by Exotic India using the email address info@exoticindia.com.

Please read our Privacy Policy for details.
|6
Sign In  |  Sign up
Your Cart (0)
Best Deals
Share our website with your friends.
Email this page to a friend
Books > Hindi > पाचनतंत्र: रोगों की प्राकृतिक चिकित्सा - Natural Healing of Digestive Diseases
Subscribe to our newsletter and discounts
पाचनतंत्र: रोगों की प्राकृतिक चिकित्सा - Natural Healing of Digestive Diseases
पाचनतंत्र: रोगों की प्राकृतिक चिकित्सा - Natural Healing of Digestive Diseases
Description

लेखकीय

पेट में अनेक रोग होते हैं। रोग एक अवस्था है। शरीर में रोग व्यापक होते हुए भी उसके विशिष्ट लक्षण होते हैं। उन विशिष्ट लक्षणों को रोगी में पहचान कर वैसे ही विशिष्ट सदृश लक्षण वाली औषधि भैषजशास्त्र में से ढूँढना चिकित्सक का काम है । ऐसी सुनिर्वाचित औषधि से रोगियों को ठीक करके अनुभव के आधार पर जो सफलता मिली उन्हीं औषधियों का वर्णन इस पुस्तक में किया है। प्रस्तुत पुस्तक में पेट के अनेक रोगों की चिकित्सा का मार्ग प्रस्तुत किया गया है।

पाचनतंत्र के रोगियों की चिकित्सा में मुझे औषधियों के लक्षण ऐसे मिले जिनसे रोगी को शीघ्र लाभ मिल जाता है । होम्योपैथिक साहित्य का अध्ययन करने पर किसी-किसी पुस्तक में औषधियों के अनुभूत लक्षण इतने प्रभावशाली ढंग से मिल जाते हैं, जिनको प्राप्त कर चिकित्सा में बहुत सहायता, सफलता मिल जाती है । चिकित्सक रोग और औषधि के सदृश लक्षण ढूँढ निकालता है तो रोगी को शीघ्रता से लाभ होता है इस आधार पर मेरी यह मान्यता बन गई है कि होम्योपैथी एक सरल चिकित्सा है । इसकी औषधियाँ पेटेन्ट की तरह निश्चित फल देती हैं।

'रोगी की औषधियों से चिकित्सा व्यवस्था करने के बाद दूसरा स्थान आता है रोगी को भोजन में क्या-क्या खिलाया-पिलाया जाये? रोग से बचाव के लिये क्या किया जाये? इस विषय की सारगर्भित और औषध की तरह काम करने वाली भोजन की व्यवस्था इस सस्करण में और दी गई है।' इसी प्रकार का साहित्य प्रस्तुत करना मेरा लेखनोद्देश्य है । पाठक इसपुस्तक को पढकर इसे इसी विचारधारा से ओत-प्रोत पाएँगे। 'पाचनतंत्र रोगों की चिकित्सा (होम्योपैथिक एवं प्राकृतिक) ' का यह नवीन सस्करण और भी अधिक उपयोगी पाएँगे। यदि पाठक इस पुस्तक को और भी उपयोगी बनाने हेतु कमियाँ बताएँगे, सुझाव देंगे तो आगामी संस्करण में तदनुसार सशोधन-परिवर्द्धन किया जाएगा। इसके लेखन में जिन चिकित्सा ग्रथों की सहायता ली है, उनका उल्लेख जगह-जगह किया गया है । उनके लेखकों का मैं हृदय से आभारी हूँ । हिन्दी भाषा में 'पाचनतंत्र रोगों की चिकित्सा (होम्योपैथिक एवं प्राकृतिक)' पर यह प्रथम पुस्तक है । मेरा विश्वास है, हर व्यक्ति और चिकित्सक इससे लाभान्वित होगा।

 

अनुक्रमणिका

1

अग्निमाद्य

Dyspepsia

2

अम्लपित्त

Acidity

3

अमृतधारा

 

4

अमीबायसिस

Amoebiasis

5

अन्त्रवृद्धि

Hernia

6

आँतों का टॉनिक

 

7

आँतों का दर्द

Colic or Enteralgia

8

आन्त्रशोथ (आँतों की सूजन)

Gastro-enteritis

9

उण्डुकपुच्छशोथ

Appendicitis

10

उल्टी

Vomiting

11

ॐ प्रभु की दया दृष्टि

 

12

कब्ज़

Constipation

13

कृमि

Worms

14

कैन्सर

Cancer

15

ग्रहणी व्रण

Duodenal Ulcer

16

गुदा-दार (फटना)

Anal Fissure

17

गुदा भ्रंश

Prolapse of Rectum

18

गैस

Flatulence

19

छाले

Stomatitis

20

जठरशोथ

Gastritis

21

जलोदर

Ascities

22

डकारें

Eructations

23

दस्त

Diarrhoea

24

दालचीनी

Cinnamon

25

नाभि चिकित्सा

Umbilical Treatment

26

पथरी

Calculus

27

पर्युदर्याशोथ

Peritonitis

28

परिणाम व्रण

Peptic Ulcer

29

पाकशयिक व्रण

Gastric Ulcer

30

पाचन अंगों का कैंसर

Cancer of Digestive Organs

31

पाचन सम्बन्धी रोग

Irritable Bowel Syndrome

32

पायोरिया

Pyorrhoea

33

पित्त-पथरी

Gall Stone

34

पीलिया

Jaundice

35

प्रतिषेधक

Prevention

36

पुर:स्थशोथ

Prostatitis

37

पेचिश

Dysentery

38

पेट-दर्द

Pain Abdomen

39

पेट के रोगों में भोजन

Diet in Abdomen Diseases

40

बृहदांत्र-मलाशय कैंसर

Colon Rectum Cancer

41

बृहदान्त्रशोध

Colitis

42

बवासीर, अर्श

Piles, Haemorrhoids

43

भगन्दर, नासूर, नाड़ी-व्रण

Fistula

44

भूख

Appetite

45

भोज्य विषाक्तता

Food Poisoning

46

मलद्वार में खुजली

Itching in Anus

47

मिश्रण चिकित्सा

Mixture Treatment

48

मुँह में पानी आना

Water-Brash

49

यकृत

Liver

50

यकृत प्रदाह

Hepatitis

51

यकृत में फोड़ा

Liver Abscess

52

यकृत का सूत्रण रोग

Cirrhosis of the Liver

53

योग से भागे रोग

 

54

लार टपकना

Drooling

55

श्वास की दुर्गंध

Halitosis: Fetied Breath

56

स्मरणीय लक्षण

Rememberable Symptoms

57

स्वाद

Taste

58

संक्रामक यकृत प्रदाह

Infective Hepatitis

59

सात्विक भोजन

Virtuous Food

60

हिचकी

Hiccough

पाचनतंत्र: रोगों की प्राकृतिक चिकित्सा - Natural Healing of Digestive Diseases

Item Code:
NZA784
Cover:
Paperback
Edition:
2013
Publisher:
ISBN:
9788190205450
Language:
Hindi
Size:
8.5 inch X 5.5 inch
Pages:
152
Other Details:
Weight of the Book:220 gms
Price:
$11.00   Shipping Free
Add to Wishlist
Send as e-card
Send as free online greeting card
पाचनतंत्र: रोगों की प्राकृतिक चिकित्सा - Natural Healing of Digestive Diseases
From:
Edit     
You will be informed as and when your card is viewed. Please note that your card will be active in the system for 30 days.

Viewed 6907 times since 25th Mar, 2019

लेखकीय

पेट में अनेक रोग होते हैं। रोग एक अवस्था है। शरीर में रोग व्यापक होते हुए भी उसके विशिष्ट लक्षण होते हैं। उन विशिष्ट लक्षणों को रोगी में पहचान कर वैसे ही विशिष्ट सदृश लक्षण वाली औषधि भैषजशास्त्र में से ढूँढना चिकित्सक का काम है । ऐसी सुनिर्वाचित औषधि से रोगियों को ठीक करके अनुभव के आधार पर जो सफलता मिली उन्हीं औषधियों का वर्णन इस पुस्तक में किया है। प्रस्तुत पुस्तक में पेट के अनेक रोगों की चिकित्सा का मार्ग प्रस्तुत किया गया है।

पाचनतंत्र के रोगियों की चिकित्सा में मुझे औषधियों के लक्षण ऐसे मिले जिनसे रोगी को शीघ्र लाभ मिल जाता है । होम्योपैथिक साहित्य का अध्ययन करने पर किसी-किसी पुस्तक में औषधियों के अनुभूत लक्षण इतने प्रभावशाली ढंग से मिल जाते हैं, जिनको प्राप्त कर चिकित्सा में बहुत सहायता, सफलता मिल जाती है । चिकित्सक रोग और औषधि के सदृश लक्षण ढूँढ निकालता है तो रोगी को शीघ्रता से लाभ होता है इस आधार पर मेरी यह मान्यता बन गई है कि होम्योपैथी एक सरल चिकित्सा है । इसकी औषधियाँ पेटेन्ट की तरह निश्चित फल देती हैं।

'रोगी की औषधियों से चिकित्सा व्यवस्था करने के बाद दूसरा स्थान आता है रोगी को भोजन में क्या-क्या खिलाया-पिलाया जाये? रोग से बचाव के लिये क्या किया जाये? इस विषय की सारगर्भित और औषध की तरह काम करने वाली भोजन की व्यवस्था इस सस्करण में और दी गई है।' इसी प्रकार का साहित्य प्रस्तुत करना मेरा लेखनोद्देश्य है । पाठक इसपुस्तक को पढकर इसे इसी विचारधारा से ओत-प्रोत पाएँगे। 'पाचनतंत्र रोगों की चिकित्सा (होम्योपैथिक एवं प्राकृतिक) ' का यह नवीन सस्करण और भी अधिक उपयोगी पाएँगे। यदि पाठक इस पुस्तक को और भी उपयोगी बनाने हेतु कमियाँ बताएँगे, सुझाव देंगे तो आगामी संस्करण में तदनुसार सशोधन-परिवर्द्धन किया जाएगा। इसके लेखन में जिन चिकित्सा ग्रथों की सहायता ली है, उनका उल्लेख जगह-जगह किया गया है । उनके लेखकों का मैं हृदय से आभारी हूँ । हिन्दी भाषा में 'पाचनतंत्र रोगों की चिकित्सा (होम्योपैथिक एवं प्राकृतिक)' पर यह प्रथम पुस्तक है । मेरा विश्वास है, हर व्यक्ति और चिकित्सक इससे लाभान्वित होगा।

 

अनुक्रमणिका

1

अग्निमाद्य

Dyspepsia

2

अम्लपित्त

Acidity

3

अमृतधारा

 

4

अमीबायसिस

Amoebiasis

5

अन्त्रवृद्धि

Hernia

6

आँतों का टॉनिक

 

7

आँतों का दर्द

Colic or Enteralgia

8

आन्त्रशोथ (आँतों की सूजन)

Gastro-enteritis

9

उण्डुकपुच्छशोथ

Appendicitis

10

उल्टी

Vomiting

11

ॐ प्रभु की दया दृष्टि

 

12

कब्ज़

Constipation

13

कृमि

Worms

14

कैन्सर

Cancer

15

ग्रहणी व्रण

Duodenal Ulcer

16

गुदा-दार (फटना)

Anal Fissure

17

गुदा भ्रंश

Prolapse of Rectum

18

गैस

Flatulence

19

छाले

Stomatitis

20

जठरशोथ

Gastritis

21

जलोदर

Ascities

22

डकारें

Eructations

23

दस्त

Diarrhoea

24

दालचीनी

Cinnamon

25

नाभि चिकित्सा

Umbilical Treatment

26

पथरी

Calculus

27

पर्युदर्याशोथ

Peritonitis

28

परिणाम व्रण

Peptic Ulcer

29

पाकशयिक व्रण

Gastric Ulcer

30

पाचन अंगों का कैंसर

Cancer of Digestive Organs

31

पाचन सम्बन्धी रोग

Irritable Bowel Syndrome

32

पायोरिया

Pyorrhoea

33

पित्त-पथरी

Gall Stone

34

पीलिया

Jaundice

35

प्रतिषेधक

Prevention

36

पुर:स्थशोथ

Prostatitis

37

पेचिश

Dysentery

38

पेट-दर्द

Pain Abdomen

39

पेट के रोगों में भोजन

Diet in Abdomen Diseases

40

बृहदांत्र-मलाशय कैंसर

Colon Rectum Cancer

41

बृहदान्त्रशोध

Colitis

42

बवासीर, अर्श

Piles, Haemorrhoids

43

भगन्दर, नासूर, नाड़ी-व्रण

Fistula

44

भूख

Appetite

45

भोज्य विषाक्तता

Food Poisoning

46

मलद्वार में खुजली

Itching in Anus

47

मिश्रण चिकित्सा

Mixture Treatment

48

मुँह में पानी आना

Water-Brash

49

यकृत

Liver

50

यकृत प्रदाह

Hepatitis

51

यकृत में फोड़ा

Liver Abscess

52

यकृत का सूत्रण रोग

Cirrhosis of the Liver

53

योग से भागे रोग

 

54

लार टपकना

Drooling

55

श्वास की दुर्गंध

Halitosis: Fetied Breath

56

स्मरणीय लक्षण

Rememberable Symptoms

57

स्वाद

Taste

58

संक्रामक यकृत प्रदाह

Infective Hepatitis

59

सात्विक भोजन

Virtuous Food

60

हिचकी

Hiccough

Post a Comment
 
Post a Query
For privacy concerns, please view our Privacy Policy
Based on your browsing history
Loading... Please wait

Items Related to पाचनतंत्र: रोगों की... (Hindi | Books)

The Practices of Yoga for the Digestive System
by Swami Shankardevananda
Paperback (Edition: 2013)
Yoga Publications Trust
Item Code: IDF181
$28.50
Add to Cart
Buy Now
YOGA FOR DIGESTIVE DISORDERS
Item Code: IDF123
$14.50
Add to Cart
Buy Now
DIGESTION AND METABOLISM IN AYURVEDA
Item Code: IDF533
$31.00
Add to Cart
Buy Now
Heritage Amruth (Amruth for Digestive Disorders)
Deal 20% Off
by Heritage Amruth
Paperback (Edition: 2007)
Heritage Amruth
Item Code: NAH153
$11.00$8.80
You save: $2.20 (20%)
Add to Cart
Buy Now
The Principle of Tridosa in Ayurveda
Item Code: IDK205
$19.00
Add to Cart
Buy Now
An Ayurvedic Concept on Thyroid Disorders and Management
by Dr. D. V. Gupta
Hardcover (Edition: 2013)
Chaukhambha Orientalia
Item Code: NAF616
$26.00
Add to Cart
Buy Now
Principles and Practice of Thyroid Disorders in Ayurveda
by Dr. D. V. Gupta
Hardcover (Edition: 2017)
Chaukhambha Orientalia
Item Code: NAN159
$26.00
Add to Cart
Buy Now
Biogenic Secrets of Food in Ayurveda
by L. P. Gupta
Hardcover (Edition: 2011)
Chaukhamba Sanskrit Pratishthan
Item Code: NAM586
$30.00
SOLD
Testimonials
As always I love this company
Delia, USA
Thank you so much! The three books arrived beautifully packed and in good condition!
Sumi, USA
Just a note to thank you for these great products and suer speedy delivery!
Gene, USA
Thank you for the good service. You have good collection of astronomy books.
Narayana, USA.
Great website! Easy to find things and easy to pay!!
Elaine, Australia
Always liked Exotic India for lots of choice and a brilliantly service.
Shanti, UK
You have a great selection of books, and it's easy and quickly to purchase from you. Thanks.
Ketil, Norway
Thank you so much for shipping Ma Shitala.  She arrived safely today on Buddha Purnima.  We greeted Her with camphor and conch blowing, and she now is on Ma Kali’s altar.  She is very beautiful.  Thank you for packing Her so well. Jai Ma
Usha, USA
Great site! Myriad of items across the cultural spectrum. Great search capability, too. If it's Indian, you'll probably find it here.
Mike, USA
I was very happy to find these great Hindu texts of the ancient times. Been a fan of both Mahabhratham and Ramayanam since I was a small boy. Now the whole family can enjoy these very important cultural texts at home.
Amaranath
Language:
Currency:
All rights reserved. Copyright 2020 © Exotic India