संगीत निबन्धावली: Essays on Indian Music

Description Read Full Description
आमुख संगीत कार्यालय, हाथरस का यह नया प्रकाशन संगीत निबन्धावली के नाम से प्रसिद्ध होने जा रहा है। इसमें सन्देह नहीं कि इस समय, जबकि संगीताभिरुचि देश भर की जनता में जाग्रत् हुईहै जनसाधा...

आमुख

संगीत कार्यालय, हाथरस का यह नया प्रकाशन संगीत निबन्धावली के नाम से प्रसिद्ध होने जा रहा है। इसमें सन्देह नहीं कि इस समय, जबकि संगीताभिरुचि देश भर की जनता में जाग्रत् हुईहै जनसाधारण के उपयुक्त संगीत साहित्य की माँग एवं आवश्यक्ता है। संगीत प्रेमी सज्जनों के लिए यह निबन्धावली बहुत उपयोगीएवं मनोरंजक होगी । इस प्रथम पुस्तिका में जो लेख प्रसिद्ध हुए हैं, वे एक त्रयस्थ की भूमिका में लिखे गये हैं। अतएव त्रयस्थों का तो इससे पर्याप्त मनोरंजन होगा ही, पर इसके कुछ लेख विज्ञ संगीतज्ञों का भी रंजन करेंगे ।

इस निबन्धावली का भविष्य उज्जवल रहे, यही प्रार्थना सरस्वती देवी के चरणों में है।

 

आलाप

संगीत निबन्धावली प्रस्तुत है । सगीत और नृत्य दोनों ही हमारी सम्प्रति के प्राण हैं ।वर्तमान शिक्षाप्रणाली में इन दोनों कलाओं का ऊँचा स्थान है अतएव यह आवश्यक हो गया है कि संगीत कला का विद्यार्थी संस्कृति के इस पहलू पर शास्त्रीय वृष्टि से भी विचार करे । प्रस्तुत पुस्तक में भारत के उन गण्यमान्य संगीत लेखकों के निबन्ध संगृहीत किए गय है, जिनकी भाषा में ओज और विषय में खोज है। ये निबन्ध संगीत विद्यार्थी, शिक्षकों और कलाकारों के लिए अध्ययन एवं मनन की वस्तु है। जिज्ञासुओं के हितार्थ यह संग्रह उपयोगी सिद्ध हुआ तो हमारा परिश्रम सार्थक होगा।

अन्त में हम उन सहयोगी लेखकों एवं पत्र पत्रिकाओं को हार्दिक धन्यावाद प्रेषित करते हैं, जिनके अनुग्रह का परिणाम संगीत निबन्धावली है।

 

अनुक्रम

भारतीय सगीत का इतिहास

9

भारत में सगीत की प्रगति

22

स्वातन्त्र्योत्तर काल में भारतीय संगीत का विकास

27

स्वतन्त्र भारत और शास्त्रीय सगीत

33

वैदिक और पौराणिक सगीत

41

भारतीय सगीत की वाद्ययन्त्र परम्परा

45

सितार ओर उसका विकास

53

हमारे वाद्ययन्त्र

64

संगीत और जीवन

72

सगीत की शक्ति

77

संगीत और उसकी रक्षा

84

ध्रुवपद और उसकी गायन शैली

91

शास्त्रीय सगीत व लोक गीत

94

भारतीय सगीत में ठुमरी का स्थान

99

सरल एवं शास्त्रीय संगीत की तुलना

104

संगीत में स्वर, ताल और साहित्य

111

संगीत और काव्य

118

भारतीय संगीत के रसोत्पादक अंग

126

भारतीय संगीत में सौन्दर्य बोध बालकृष्ण गर्ग

136

भारतीय संगीतज्ञ और उनकी कला

144

हिन्दुस्तानी संगीत में घराना

152

भारतीय संगीत की दो शैलियाँ

160

कर्नाटिक तथा हिन्दुस्तानी संगीत में समानता

171

नृत्य में नवरसों की अभिव्यक्ति व कथक में उनका स्थान

192

भारतीय नृत्य कला

204

संगीत, अभिनय और नृत्य

209

 

Sample Pages













Item Code: HAA214 Author: डा. लक्ष्मी नारायण गर्ग: (Dr. Lakshmi Narayan Garg) Cover: Paperback Edition: 2006 Publisher: Sangeet Karyalaya Hathras ISBN: 8158057060 Language: Hindi Size: 8.0 inch X 5.0 inch Pages: 216 Other Details: Weight of the Book: 170 gms
Price: $15.00
Shipping Free
Viewed 5762 times since 21st Jun, 2018
Based on your browsing history
Loading... Please wait

Items Related to संगीत निबन्धावली: Essays on Indian Music (Performing Arts | Books)

पुष्टि संगीत प्रकाश: Pushti Sangeet Prakash - Kirtan Sangeet (With Notation)
भजन संगीत सुधा: Bhajan Sangeet Sudha (With Notations)
प्रभाकर प्रश्नोत्तर: Prabhakar Prashnottar - Sangeet Prashnottar (With Notations)
भक्ति संगीत अंक: Bhakti Sangeet Anka With Notation
संगीत विशारद: Sangeet Visharad
हिन्दुस्तानी संगीत पध्दति क्रमिक पुस्तक मालिका: Hindustani Sangeet Paddhati Kramik Pustak Malika (Set of 6 Volumes)
संगीतरत्नाकर: Sangeet Ratnakar (Sanskrit Text with Word-to-Word Meaning Hindi Translation) (With Notation) (Set of 4 Volumes)
संगीतमाधवम्: Sangeet Madhav (An Old and Rare Book)
संगीत रत्नाकर के ताल तत्व: Rhythm of Sangeet Ratnakar
पुष्टिमार्गीय मंदिरो की संगीत परम्परा (हवेली संगीत): The Tradition of Music in The Pushtimarg Tamples (Haveli Sangeet)(With Notation)
'रामरंग' संगीत रामायण Sangeet Ramayana With Notations (Set of 2 Volumes)
कोशी संगीत घराना: Gharana of Koshi Sangeet
हाई स्कूल संगीत शास्त्र: High School Sangeet Shastra
संगीत पुञ्जिका: Sangeet Punjika - According to UGC Syllabus With Notation (Set of 3 Volumes With CDs Inside)
नेट संगीत: Net Sangeet
Testimonials
I have bought several exquisite sculptures from Exotic India, and I have never been disappointed. I am looking forward to adding this unusual cobra to my collection.
Janice, USA
My statues arrived today ….they are beautiful. Time has stopped in my home since I have unwrapped them!! I look forward to continuing our relationship and adding more beauty and divinity to my home.
Joseph, USA
I recently received a book I ordered from you that I could not find anywhere else. Thank you very much for being such a great resource and for your remarkably fast shipping/delivery.
Prof. Adam, USA
Thank you for your expertise in shipping as none of my Buddhas have been damaged and they are beautiful.
Roberta, Australia
Very organized & easy to find a product website! I have bought item here in the past & am very satisfied! Thank you!
Suzanne, USA
This is a very nicely-done website and shopping for my 'Ashtavakra Gita' (a Bangla one, no less) was easy. Thanks!
Shurjendu, USA
Thank you for making these rare & important books available in States, and for your numerous discounts & sales.
John, USA
Thank you for making these books available in the US.
Aditya, USA
Been a customer for years. Love the products. Always !!
Wayne, USA
My previous experience with Exotic India has been good.
Halemane, USA