श्री चैतन्यचरित्र-पीयूष (श्री चैतन्य महाप्रभुका संक्षिप्त जीवन-चरित्र): A Brief Biography of Chaitanya Mahaprabhu
Look Inside

श्री चैतन्यचरित्र-पीयूष (श्री चैतन्य महाप्रभुका संक्षिप्त जीवन-चरित्र): A Brief Biography of Chaitanya Mahaprabhu

$16
Quantity
Ships in 1-3 days
Item Code: NZD098
Author: श्री नारायण गोस्वामी महाराज (Sri Narayana Gosvami Maharaja)
Publisher: Gaudiya Vedanta Publications
Language: Hindi
Edition: 2013
Pages: 130 (16 Color Illustrations)
Cover: Paperback
Other Details: 8.5 inch X 5.5 inch
Weight 160 gm

प्रस्तावना

श्रीगौड़ीय वेदान्त समितिके प्रतिष्ठाता आचार्य मेरे श्रील गुरुपादपद्य नित्यलीलाप्रविष्ट-विष्णुपाद अष्टोत्तरशतश्री श्रीमद्धक्तिप्रज्ञान केशव गोस्वामी महाराजकी अहैतुकी अनुकम्पा और प्रेरणासे उन्हींके प्रीतिविधानके लिए श्रीगौड़ीय-भक्ति-साहित्यसे अनूदित एवं उन्हींके विचारोंपर प्रतिष्ठित बहुत - से ग्रंन्थ राष्ट्रभाषा हिन्दीमें प्रकाशित हो रहे हैं । उसी कडीमें आज मेरे सतीर्थ प्रपूज्यचरण श्रीमद्धक्तिवेदान्त वामन गोस्वामी महाराजके अनुग्रह तथा श्रीमान- परमेश्वरी दास ब्रह्मचारीके अक्लान्त परिश्रामसे श्रीचैतन्यभागवत, श्रीचैतन्यचरितामृत आदि प्रामाणिक गौड़ीय- ग्रंन्थोंसे संग्रहीत 'श्रीचैतन्य -चरित्र-पीयूष' नामक ग्रंन्थ राष्ट्रभाषा हिन्दीमें प्रकाशित हो रहा है।

बहुत दिनोंसे मेरी प्रबल इच्छा थी कि श्रीराधाभावद्युति-सुवलित श्रीकृष्णस्वरूप श्रीशचीनन्दन गौरहरिका संक्षिप्त जीवन-चरित्र और उनकी शिक्षाओंको सरल-सहज -बोधगम्य हिन्दी भाषामें प्रकाशित किया जाय । तदनुसार मेरी यह अभिलाषा पूर्ण हो रही है । आशा करता हूँ कि हिन्दी -भाषी लोग इस ग्रंन्थके पठन-पाठनके द्वारा श्रीमन्महाप्रभुके भक्तिमय आदर्श जीवन- चरित्रसे अवगत होकर भक्ति-राज्यमें सहज रूपसे अग्रसर हो सकेंगे ।

प्रस्तुत प्रथम संस्करणकी प्रतिलिपि प्रस्तुत करने, कम्पोजिङ्ग करने तथा विविध सेवा - कायोंके लिए श्रीमान ओमप्रकाश ब्रजवासी, श्रीमान- पुरन्दर ब्रह्मचारी, श्रीमान- सुबलसखा ब्रह्मचारी, श्रीमान- कृष्णकारुण्य ब्रह्मचारी । बेटी शान्ति दासी आदिकी सेवा प्रचेष्टा अत्यन्त सराहनीय एवं उल्लेखनीय है। श्रीश्रीगुरु-गौराकङ श्रीगान्धर्विका-गिरिधारी श्रीराधा-विनोद-बिहारीजी इनपर प्रचुर आशीर्वाद वर्षण करें, उनके श्रीचरणोंमें मेरी यही प्रार्थना है ।

यह संस्करण अत्यन्त शीघ्रतासे प्रकाशित हुआ है, जिससे इसमें फलत प्रमादवशत : कुछ त्रुटि - विच्युतियोंका रह जाना अस्वाभाविक नहीं है। सुधी पाठकवृन्दके द्वारा उनका संशोधनपूर्वक पाठ करने से हम आनन्दित होंगे। इति।

 

विषय

 

प्रस्तावना

क-ख

 

प्रकाशकीय-वक्तव्य

1

पूर्वाभास

1

2

श्रीमन्महाप्रभुके अवतारकी सूचना

3

3

जन्म-लीला

5

4

सर्प-धारण

8

5

दो चोरोंपर कृपा

10

6

तैर्थिक ब्राह्मणपर कृपा

13

7

भक्तिविमुख एवं वैष्णव-विद्वेषी ब्राह्मणोंको दण्ड

22

8

कन्याओंसे हास-परिहास

23

9

ब्राह्मणों एवं कन्याओंपर अपरोक्ष कृपा

24

10

विश्वरूपका संन्यास

26

11

पुन: चञ्चलता प्रकाश

27

12

माताको शिक्षा

28

13

उपनयन संस्कार तथा पुन: विद्या- अध्ययन आरम्भ

30

14

जगन्नाथ मिश्रका स्वप्न तथा परलोक-गमन

31

15

ज्योतिषीपर कृपा

32

16

भक्त श्रीधरसे प्रेम-कलह

33

17

दिग्विजयी पण्डितका उद्धार

37

18

महाप्रभुकी गया यात्रा

44

19

ईश्वरपुरीसे दीक्षा ग्रहण

45

20

श्रीवासको चतुर्भुजरूपका दर्शन कराना

47

21

श्रीअद्वैताचार्यको दिव्य दर्शन

48

22

श्रीवास पण्डितपर कृपा

50

23

गकदासपर कृपा

50

24

श्रीधरपर कृपा

51

25

मुरारिगुप्तपर कृपा

54

26

हरिदासपर कृपा

55

27

मुकुन्दपर कृपा

56

28

ज़गाइ-माधाइका उद्धार

60

29

काजी-उद्धार

65

30

संन्यास-ग्रहण

69

31

सार्वभौमका उद्धार

70

32

दक्षिण भारतकी यात्रा

73

33

कुष्ठ-विप्रका उद्धार

73

34

बौद्ध- आचार्यका उद्धार

75

35

श्रीवैत्रन्टभट्टपर कृपा

76

36

गोदावरीके तटपर राय-रामानन्दसे मिलन

78

37

राजा प्रतापरुद्रके पुत्रको दर्शन देना

81

38

गुण्डिचा-मन्दिर-मार्जन

82

39

स्थके आगे महाप्रभुका नृत्य तथा प्रतापरुद्रपर कृपा

84

40

अमोघका उद्धार

86

41

वृन्दावन-यात्रा एवं झाडूखण्डमें पशु-पक्षियोंको प्रेमदान

88

42

वाराणसीमें मायावादी संन्यासी प्रकाशानन्द द्वारा

 
 

प्रभुकी निन्दा

90

43

मथुरामें श्रीमन्महाप्रभुका आगमन

93

44

पठानोंपर कृपा

95

45

श्रीरूप-शिक्षा

96

46

श्रीसनातन-शिक्षा

98

47

प्रकाशानन्द सरस्वतीका उद्धार

99

48

वैराग्यकी शिक्षा

106

49

गम्भीरा-लीला

108

 

गौड़ीय वेदान्त प्रकाशन ग्रन्थावली

111

Sample Page


Add a review
Have A Question

For privacy concerns, please view our Privacy Policy

CATEGORIES