अथ श्री मूषकाय नम: Humorous Poems
Look Inside

अथ श्री मूषकाय नम: Humorous Poems

FREE Delivery
$24.80
$31
(20% off)
Quantity
Ships in 1-3 days
Item Code: NZF814
Author: राजेश आरोड़ा 'शलभ' (Rajesh Arora 'Shalabh')
Publisher: Amrit Book
Language: Hindi
ISBN: 9789381382462
Pages: 190 (50 B/W Illustrations)
Cover: Hardcover
Other Details 8.5 inch X 6.0 inch
Weight 370 gm

पुस्तक परिचय

आज के इस घोर कलयुग में हर कुएं में मांग पड़ी हुई है | हर क्षेत्र में सरकारी हो या प्राइवेट, हर व्यक्ति, सामान्य हो या ग्रेट, लाइट वेट हो या हैवी वेट, सब अपने अपने वेट के मुताबिक देश को कुतरने में लगे है, बशर्ते उन्हें कुतरने का मौका मिल रहा हो | केवल वाही इससे वंचित है, जिन्हे मौका नही मिल पा रहा | अवसर जब तक न मिला, रहे भक्ति में लीन | पाते ही अवसर मगगर बदल गया सीन | मेरा मानना है के आज देश की रग रग में भ्रष्टाचार व्याप्त हो चूका है, चाहे वह किसी स्तरका क्यों न हो | आइये कुछ देर भ्रष्टाचार पर चिन्तन करे | शुष्क होती संस्कृति के सार पर चिन्तन करे | इसी चिन्तन और मंथन का परिणाम है यह काव्य संग्रह जो एक और आपको मुसकराने, गुदगुदाने का अवसर देगा तो दूसरी और आपको देश की दिशा और दशा पर गंभीरता से सोचने पर मजबूर भी करेगा |



Sample Pages


Add a review
Have A Question

For privacy concerns, please view our Privacy Policy

CATEGORIES