Look Inside

सात भारतीय संत (जीवन-दर्शन और संदेश): Seven Indian Saints

$15
Quantity
Usually ships in 3 days
Item Code: NZD105
Author: डा. बलदेव वंशी (Dr.Baldev Vanshi)
Publisher: National Book Trust, India
Language: Hindi
Edition: 2017
ISBN: 9788123757926
Pages: 192
Cover: Paperback
Other Details 8.5 inch X 5.5 inch
Weight 250 gm
Fully insured
Fully insured
Shipped to 153 countries
Shipped to 153 countries
More than 1M+ customers worldwide
More than 1M+ customers worldwide
100% Made in India
100% Made in India
23 years in business
23 years in business

पुस्तक के बारे में

प्रस्तुत पुस्तक 'सात भारतीय संत' एक महत्वपूर्ण कृति है जिस को लेखक ने बड़े मनोयोग, अथक परिश्रम से तैयार किया है । अध्यात्म से जुड़े पाठक वर्ग व शोधार्थियों के लिए एक एक महत्वपूर्ण कृति है, ऐसा हमारा मानना है ।

लेखक डॉ.बलदेव बंशी का जन्म 7 जून 1938 को मुलतान (अब पाकिस्तान) में हुआ । उन्होंने एम.. हिंदी पी.एच.डी. तक शिक्षा प्राप्त की । अब तक उनके बारह कविता संग्रह, दस आलोचक पुस्तकों सहित पैंतालीस से अधिक पुस्तकें प्रकाशित । 'कहत कबीर कबीर', 'कबीर की चिंता', 'पूरा कबीर', 'दादू जीवन दर्शन', 'संत कवि दादू, 'संत मलूक ग्रंथावली', 'संत पुस्तक माला', का लेखक-संपादन किया ।

विभिन्न अकादमियों, साहित्यिक संस्थाओं, विश्वविद्यालयों द्वारा सम्मानित । छह पुस्तकें केंद्र व राज्य सरकारों द्वारा पुरस्कृत । 'कबीर शिखर सम्मान', 'मलूक रत्न पुरस्कार' प्राप्त । रचनाएं विश्व-विद्यालयी पाठ्यक्रमों में निर्धारित तथा अनेक भाषाओं में अनूदित ।

'विश्व रामायण सम्मेलन' तथा 'कबीर चेतना यात्रा' के दौरान मारीशस, हॉलैंड, इंग्लैंड, बेल्जियम, नेपाल आदि देशों की यात्रा । 'अखिल भारतीय भाषा संरक्षण संगठन' के संस्थापक अध्यक्ष, विश्व कबीरपंथी महासभा के अध्यक्ष, 'अखिल भारतीय श्री दादू सेवक समाज' के महानिदेशक, 'दादू शिखर सम्मान समिति' के संयोजक व 'विचार कविता' के संस्थापक संपादक । इन दिनों अनेक गंभीर परियोजनाओं को साकार करने में सक्रिय ।

 

विषय-सूची

1

कबीर से परिचय

1

2

वर्तमान संदर्भों में कबीर का दर्शन

10

3

कबीर की चिंता एवं मूल आधार

20

4

कबीर ने नया वेद रचा

27

5

कबीर का संदेश

33

6

प्रेम-दीवानी मीराबाई का जीवन

41

7

आधुनिक संदर्भ में मीराबाई

51

8

मीरां के प्रेम का स्वरूप

62

9

मीरां का लोक लोक की मीरां

70

10

मीरां वाणी : विद्रोही आयाम

76

11

संत दादू जीवन चरित्र

82

12

दादू की आध्यात्मिक चेतना का स्वरूप

91

13

दादू पाती प्रेम की

100

14

आध्यात्मिक विश्व-व्यवस्था और संत

 
 

प्रवर कवि प्राणनाथ की वाणी

112

15

रज्जब तैं गज्ज़ब कियो उर्फ दूल्हा संत

125

16

महान परोपकारी एवं दयावान रज्जब

129

17

'गुरु उर गोविन्द है' -रज्जब

133

18

मलूकदास : जीवन परिचय एवं प्रमुख घटनाएं

139

19

मलूकदास दार्शनिक मत एवं सिद्धांत

152

20

मलूकदास का संदेश

162

21

सहज मुक्त संत सहजोबाई

176

Sample Page

Add a review
Have A Question

For privacy concerns, please view our Privacy Policy

CATEGORIES